सी लैंग्वेज ( C Programming Language ) कैसे सीखे ? | YourLearnZone

कंप्यूटर की पढाई में आज कल विद्यार्थियों काफी तेजी से रूचि यानि की इंटरेस्ट बढ़ रहा है कोई कंप्यूटर में सॉफ्टवेर इंजिनियर बनना चाहता है तो कोई कंप्यूटर हार्डवेयर इंजिनियर (Computer Hardware Engineer) तो कोई हैकर(Hacker) बनना चाहता है आपको इस कंप्यूटर की फिल्ड में कई सारे कोर्स मिल जायेगे जिसमे से एक कोर्स बहोत popular है जो की कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज (Computer Programming Language) है जिसे हम आम भाषा में कोडिंग करना भी कहते है लेकिन अब सवाल उठता है की आखिर कैसे सीखे कोडिंग(Coding) ,प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कैसे सीखे ? अब प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कई सारे होते है जैसे की सी लैंग्वेज (C Language) , जावा लैंग्वेज (Java Language) , सी प्लस प्लस (C++) इत्यादि तो यहाँ पर आपको एक लैंग्वेज सबसे पहले आना जरुरी है सी लैंग्वेज (C Language) एक सबसे easy और आसान लैंग्वेज है अगर आपको सी लैंग्वेज सिख लेते हो तो इसके बाद आप बाकी लैंग्वेज आसानी सिख सकते है तो इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे की सी लैंग्वेज कैसे सीखे ? (How to Learn C Programming Language in hindi) और सी लैंग्वेज में बेसिक कैसे सीखे (Learn C Language Basic in hindi).



कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज (Computer Programming Languages) में C लैंग्वेज बहोत ही पोपुलर है और इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का इस्तेमाल अभी भी कई सॉफ्टवेर बनाने में किया जाता है ये एक बेसिक्स और बहोत ही easy प्रोग्रामिंग लैंग्वेज माना जाता है अगर आपने सी लैंग्वेज सिख लिया तो बाकी कंप्यूटर लैंग्वेज भी आसानी से सिख सकते है जावा लैंग्वेज (Java Language) , सी प्लस प्लस (C++) इत्यादि तो चलिए सीखते है C प्रोगाम्मिंग लैंग्वेज (C Programming Language) हिंदी में यानि की कोडिंग कैसे करे (How to code information in hindi) और कैसे एक छोटा सा C language में प्रोग्राम बनाये.

सी लैंग्वेज क्या है ? (What is C Programming Language in hindi) 

C एक  general purpose high level programming language है जो portable applications और firmware को develop करने के लिए use की जाती है। इसे मूल रूप से system software और operating system को develop करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। C को Dennis Ritchie ने 1970 के दशक में Bell Labs में develop किया था। C की पहली मुख्य application थी UNIX Operating System। C के मेन फीचर्स में low-level access to memory, simple set of keywords, और clean style समाहित हैं। इन फीचर्स की वजह से ही C language ऑपरेटिंग सिस्टम डेवलपमेंट के लिए एक suitable लैंग्वेज है. C के बाद में develop की गयी कई languages C language का ही syntax follow करती हैं जैसे PHP, Java, JavaScript etc।


Why C language ?

  • सी लैंग्वेज एक High Level Language है
  • C में एक निश्चित संख्या में keywords होते हैं. जिनमे control primitives का सेट जैसे if, for, while, switch वगैरह।
  • C में कई logical और mathematical operators होते हैं जिनमे bit manipulators भी शामिल हैं।
  • सी लैंग्वेज सीखे के बाद आप कंप्यूटर (Computer) के सिस्टम सॉफ्टवेर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेर दोनों बना सकते हो



C Language के बारे में कुछ Interesting Facts

  • C को invent किया गया था एक operating system जिसका नाम है UNIX को लिखने के लिए
  • C language successor है B language का जिसे की introduce किया गया था early 1970s में
  • इस language को formalized किया गया सन 1988 में American National Standard Institute (ANSI) के द्वारा
  • UNIX OS को totally C में लिखा गया है
  • अभी की समय में C सबसे ज्यादा popular और ज्यादा इस्तमाल किया जाने वाला System Programming Language है
  • ज्यादातर सभी state-of-the-art software को C में ही implement किया गया है
  • अभी के सबसे popular Linux OS और RDBMS, Oracle, MySQL भी C में लिखे गए हैं

C Language कैसे सीखे (Basics of C Programming in Hindi)

केवल C Language ही क्यूँ यदि आपको कोई भी Language सीखना है तब उसके लिए पहले उस Language को समझना होगा जिसके लिए आप Online Sources जैसे की Websites, Blogs या Onlines Courses की मदद ले सकते हो वहीँ आप Offline Sources में आप Books या Tuturial Classes की मदद ले सकते हैं| निचे आपको YouTube का एक playlist मिलेगा, यहाँ आपको C language से software कैसे बनाये के बारे में पूरी जानकारी है|

2. C Language in Hindi by CodewithHarry

Data Types और variable का कांसेप्ट समझे

जैसे ही आप सी लैंग्वेज का बेसिक्स पता चल जाता की सिंटेक्स (Syntax) क्या होता है ? हैडर फाइल्स (Header Files) क्या होता है इसके बाद आपको समझना होगा की आखिर ये डेटा टाइप्स (Data Types) क्या होते है वेरिएबल नेम (Variables name) क्या होते है क्यों कंप्यूटर के मेमोरी (Memory) में आप किसी भी डाटा को ऐसे ही स्टोर नहीं कर सकते उसका नाम और डाटा टाइप डिक्लेअर करना जरुरी है ये चीज़े बेसिक्स में आती है जो आपको पता होना चाहिए तभी आप एक प्रोग्राम बना सकते है सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज (C Programming Language) में

Function और keywords का use समझे


ये सभी चीज़े समझने के बाद अब आपको समझना होगा की ये फंक्शन क्या है ? सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज (C Programming Language) , कीवर्ड्स (Keywords) क्या होते है जैसे की printf या scanf क्या है इसका क्या यूज़ है %d , %f , %s क्या है कब लगाया जाता है ये सब चीज़े समझना बहुत जरुर है वरना बहोत कांफुसिंग हो जाता बाद में प्रोग्राम बनाने में तो इन सभी चीजों का कांसेप्ट पहले क्लियर हो तो ज्यादा बेहतर रहता है ताकि प्रोग्राम में दिक्कत न हो |

अब एक छोटा सा प्रोग्राम बनाये

ये सभी चीज़े सिखने के बाद अब आप आसानी से छोटा मोटा प्रोग्राम सी लैंग्वेज में बना सकते है चाहे वो Hello World का प्रोग्राम हो या दो नंबर को जोड़ने वाला प्रोग्राम हो आप इन्टरनेट में सर्च कर सकते है C Language simple Program आपको कई सारे प्रोग्राम मिल जायेंगे जिन्हें आप खुद से प्रैक्टिस करके समझ सकते है |

अब एक C language की बुक ख़रीदे

जैसे ही आप सब कुछ बेसिक्स समझ जाते है एक छोटा मोटा प्रोग्राम बना लेते है इसके बाद अब आपको एक बुक (Book) यानि किताब लेना बहोत जरुरी है सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज (C Programming Language) आप सी भी बुक ले सकते जिससे आपको टॉपिक वाइज समझने में आसानी होगी क्यों की अगर आप ऐसे इन्टरनेट में सर्च करेंगे तो आपको थोडा मुस्किल हो जायेगा की कोनसा टॉपिक पहले समझे तो कोसिस करे एक बुक लेले हेल्प क लिए बाकी आप इन्टरनेट का इस्तेमाल भी कर सकते है | तो इस तरह से आप आसानी से सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज (C Programming Language) सिख सकते घर पर ही अगर आप सीखना चाहते है लेकिन लिए आपको अच्छे से और मन लगाके सीखना होगा आप एक अच्छे कोडर या प्रोग्रामर (Programmer) बन सकते है

So In last आशा करता हु आपको ये article पसन्द आया होगा जानता हूं बहुत सी चीजे skip की है लेकिन आप चाहे तो मैं और चीज़े post करूँगा जिससे आपको सीखने में काफी आसानी होगी |


Happy Learning :)



Post a Comment

नया पेज पुराने